Are you Chirkut ?

Advertise

Recent Post !!

Trending

Devoid


The void in my soul, is what distorts my Present;
The cry of belonging is what fills up my Past;
The willpower to make my Past a reality, is what fills up my Future;

In the juggle of these three, I stand like a dying tree;
In return, I struggle to provide some sort of relief;
What cures one, poisons the other;
And so I turn up to be a waste on our dearest mother;

With all the naivety, I pray to some non-existent God;
Hoping to be shown something that stands out in the odd;
I’m ready to follow any path to reach, to be with;
Even if it means following a thought or an absurd myth;

Oh thee Gods, enlighten me a little, so a path I can follow;
In an age where lives are lived, simply hollow;
Where selfishness is the utmost rule;
And those unable to adhere, are nothing more than mere mule;

Will this agony be repeated, in a continuous loop;
What will be the verdict of my fear: graceful surrender or a sly coup;
In the end, I’m left wondering what I am living for;
Or is it that I am dreaming to find something I’ll die for;



Read More

Meaning of Chirkut

Chirkut = चिरकुट

Chirkut is a Hindi slang which has a different types of meaning- imbecile, stupid, miser, impetuous, idiot or non-classy.

There are some more meanings here: misers, petty thieves, rouges, eve teasers, law breakers, shop lifters and general criminals.

Now you are thinking that why we named this blog on this weird word which has not so good meaning. So let me tell you my friend - Every weird thing starts from weird people. We picked up one meaning from all those meanings that is 'IDIOT' for the word Chirkut.

Even in the movie Bandook, two main heroes Bhola (Aditya Om) and Lochan (Arshad Khan) are called Chirkut Cowboys. This word reflects their personality that means they ruthlessly hunt their enemies in movie and at the same time have a perverted sense of humour that comes as comic relief to the tragic proceedings.

Here we welcome you to this Chirkut Blog or The Blog of Chirkuts or Blog of Idiots.

"Who understands life, who understands how to live, whose better know what he/she is, what's inside you, what are you from outside ?", nobody knows all the answers of these questions, we the people of this earth are somehow idiots or chirkuts. So that's why we made this blog to show our chirkutness or our chirkut thoughts.

So Are you a Chirkut ??.........Show Us
#ShowYourChirkutness #Chirkut #ChirkutBlog

Read More

T for Trust


Trust is like rain,
It has both love as well as pain.
Trust is like walking with your eyes closed,
Its a way to lose those whom you hold very close.
Trust is a word of only 5 letters,
But these 5 letters is all what matters.
Trust is the call of your inner voice,
But sometimes you have to blindly trust, you have no choice.
Betrayal is the enemy of Trust,
It wins when a person is full of lust.
Hold, breathe and have Trust,
This is what we hear whenever we get rust.
Well, it takes years to build trust,
And few seconds to turn it into dust.
Read More

एक और शाम

इसे पड़ने से पहले ये पड़े : Click here:


हमेशा अकेले होने से बचता रहता हूँ, खाली बैठने से भागता रहता हूँ। आज बरसात ने रोक लिया है बाहर जाने से, तो आज बैठा हूँ अकेला कमरे में। कोशिश कर रहा था थोड़ी देर कुछ न सोचूँ, कुछ न करूँ, तभी एक आवाज़ आने लगी कानों में। कल रात जैसी गानों की या नीलेश मिसरा की नहीं, बल्कि उस आवाज़ ने मुझे एहसास दिलाया कि मैं सोचता हूं कि मैं अकेला बैठा हूँ, दरअसल मैं बिल्कुल अकेला नहीं होता। कोई न कोई होता है आस पास। वो कोई, कोई आत्मा नही होती, जीव ही होता है। वो आवाज़ थी एक मच्छर के भिनभिनाने की। अब सोचा था कि कुछ नहीं करना तो हाथ चला कर हटाया नही उसको, सुना थोड़ी देर तो लगा कि वो कुछ कह रहा है। चलो सुन ही लेते हैं आज उसको। वो मुझसे कह रहा था कि शुक्रिया, आपके यहाँ कुछ जलाया हुआ नहीं है हम लोगों का दम घुटवाने के लिए और न ही कुछ छिड़का हुआ है। आपसे एक मदद चाहिए, हम लोग हमेशा तो आपके ही कमरे में नहीं रहेंगे न, तो अगर आप हमें समझा सके कि इन दम घोंट देने वाले पदार्थों का क्या करें, या आप कुछ मदद कर सकें हम इनसे लड़ने में, तो अच्छा होगा। मैंने सोचा, ये लोग कितने दुखदायी हालातों से झूँझ रहे हैं, क्यों न इनकी कोई मदद कर दी जाए। पर उससे पहले मेरे मन मे कुछ सवाल आये, मैंने एक हाथ आगे बढ़ाया, उसको बैठने के लिए कहा। वो आ कर मेरे हाथ पर बैठ गया। मैंने उससे पूछा "तुम मुझसे ही क्यों मदद माँगने आये हो?" तो उसने कहा "हम सबसे मदद माँगते हैं, हमारे लीडर ने हमें बोला है कि इंसान की बनाई इस चीज़ से तुम्हें इंसान ही बचा सकता है, पर संभल कर, कुछ इंसान अच्छे होते हैं तो कुछ बुरे। तुम उनके पास जा रहे हो, मतलब सर पर कफ़न बाँध कर। और ऐसे ही हमारे बहुत सारे भाई आप लोगों के हाथों शहीद हुए हैं, मैं चाहता हूँ कि आप हमारी तरफ मदद का हाथ बढ़ाएँ, जिससे हमारे भाइयों का घुट कर मरने और शहीद होने का सिलसिला ख़त्म हो सके।" और इतना कह कर उसने मेरी तरफ अपना हाथ बढ़ा दिया| फिर मैंने अपना हाथ उसके हाथ पर रख दिया और मैं खुद को हैवानियत में हिटलर से एक कदम आगे महसूस कर रहा हूँ कि जो मदद माँगने आया हो, उसकी लाश तक घर लौटने नहीं दी!

By Akshay Kurseja 

Connect With Akshay on Facebook: Click here
Read More

एक शाम


इस शाम के बारे में क्या कहूँ! ये शाम कुछ अलग है, ये एक दुर्लभ शाम है| कुछ ख़ास नही था इसमे पर सब कुछ आम से कुछ हटके था। सुबह शुरू हुई उस चीज़ से जो करना मुझे बहुत पसंद है। थिएटर प्ले की रिहर्सल। दिन भर ऑफिस में भी दिन अच्छा सा रहा। आज तन्खवाह आने का दिन भी था।😝 शाम को बारिश हुई। चाय की इच्छा हुई और बारिश में नही भीगना चाहता था तो चाय आर्डर कर ली। कहाँ से कहाँ आ गए हैं हम। 😅 अब जब खाना खा कर सोने लगा तो मेरी खिड़की से बाहर कहीं से आवाज़ आ रही थी, पुराने गाने बजने की। मेरे पसंदीदा गाने! गाना ख़त्म हुआ तो आवाज़ आयी "बात पे बात पे अपनी ही बात कहता है,मेरे अंदर मेरा छोटा सा शहर रहता है"। बस अपनी बिस्तर से उठने की इच्छा नही है, नही तो मैं उस इंसान को ढूँढ़ कर उससे बात करना चाहता हूँ, जो हिंदी प्रधान क्षेत्रों में भी ज़्यादा न सुने जाने में रेडियो सीरियल को यहाँ सुन रहा है, हैदराबाद में| नीलेश मिसरा मेरे भी फेवरेट हैं। और अब "यादों का इडियट बॉक्स" ख़त्म हुआ "बस इतनी सी थी ये कहानी" के साथ| अब गाना बज रहा है "जीवन के दिन छोटे सही, हम भी बड़े दिलवाले" ❤️

By Akshay Kurseja 

Connect With Akshay on Facebook : Click here

For Next Post: एक और शाम
Read More

Search This Blog


Paperblog

PageViews

Today's Thought

I promise, if you keep searching for everything beautiful in this world, you will eventually become it !!
Powered by Blogger.